महात्मा गांधी सबसे बड़े संत इसलिए राष्ट्रपिता के नाम से देश में जाने जाते हैं-महंत रविन्द्र पुरी

खबर सुने

अखिल भारतीय खड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री महंत रवींद्र पुरी महाराज ने गांधी जयंती पर कहां, महात्मा गांधी सबसे बड़े संत इसलिए राष्ट्रपिता के नाम से देश में जाने जाते हैं

अपनी धार्मिक यात्रा से वापस लौटे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रवींद्र पुरी महाराज ने गांधी जयंती के अवसर पर कहा आज 2 अक्टूबर है हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती है राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने जितने कार्य देश के हित में किए हैं हम उतना चल नहीं सकते हैं लेकिन उनकी कुछ बातें हमको याद रखनी चाहिए उन्होंने एक भजन गाया है रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीताराम ईश्वर अल्लाह तेरो नाम सबको सन्मति दे भगवान तो मैं समझता हूं महात्मा गांधी को आज याद करना चाहिए उनकी जो शॉर्ट शॉर्ट स्टोरियां कहानियां है उनको पढ़ना चाहिए और जिन पद चिन्ह पर वह चले हैं हमें उस पर चलना चाहिए और सबसे बड़ी बात जो हिंसा है हमें उसका विरोध करना चाहिए हमें सत्य पर चलना चाहिए और हमें झूठ नहीं बोलना चाहिए महात्मा गांधी ने तीन बंदर रखे थे एक बंदर आंखें बंद रखता था एक मुंह बंद रखता था एक कान बंद रखता था उसका यही संदेश था की बुरा मत देखो बुरा मत कहो और बुरा मत सुनो इसी संदेश पर हम चलने का प्रयास कर रहे हैं हमने उनको देखा तो नहीं है मगर उनके देश हित में किए हुए कार्य कभी भुलाये नहीं जा सकते हैं हमने कभी उनको देखा नहीं मगर हमने उनको सुना है हमने उनको पढ़ा है हम उनको नमन करते हैं हम उनको प्रणाम करते हैं एक बैरिस्टर होकर के एक धोती में आए इतने बड़े संत हो गए कि वह पूरे भारत में राष्ट्रपिता के नाम से जाने जाते हैं हम उनको नमन प्रणाम करते हैं।